जानिये MeToo Movement पर क्या कहते हैं बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान

Shahrukh-Khan


MeToo Movement पर साल के जाते-जाते आखिर बॉलीवुड के बादशाह यानी शाहरुख खान ने भी अपनी चुप्पी तोड़ ही दी. इस साल काफी लंबे समय तक ये आंदोलन लगातर सुर्खियों में रहा. देश और दुनिया की सैकड़ों महिलाओं ने इस आंदोलन को हवा दी. वर्क प्लेस और प्रोफेशनल लाइफ में महिलाओं के साथ उत्पीड़न और यौन शोषण की घटनाओं की कहानियों से सोशल मीडिया पर भूचाल सा गया. इतना ही नहीं चकाचौंध और ग्लेमर से भरपूर बॉलीवुड भी MeToo Movement के प्रभाव से बच नहीं पाया.

महिला अधिकारों का ढिंढोरा पीटने से कुछ नहीं होगा, समाज में भारी बदलाव की जरूरत
महिलाओं के शोषण और यौन उत्पीड़न की घटनाएं जब पहली बार दुनिया के सामने इतने बड़े पैमाने पर सार्वजनिक हुई तो कुछ लोग Shocked रह गए. साथ ही MeToo Movement ने ये सोचने पर मजबूर कर दिया कि केवल महिलाओं के अधिकारों का ढिंढोरा पीटने से कुछ नहीं होगा, एक बेहतर और स्वस्थ समाज के लिए अभी भारी बदलाव की जरूरत है. अब जाते हुए साल के साथ बॉलीवुड के सुपरस्टार शाहरुख खान ने भी MeToo Movement पर अपनी राय रखी है.

MeToo Movement पर शाहरुख खान ने कही तीन बातें
जब एक इंटरव्यू में शाहरुख से पूछा गया कि साल 2018 के MeToo Movement पर उनका क्या कहना है तो शाहरुख ने बताया, महिलाओं को बराबरी का दर्जा देने का मतलब है, सम्मान, सम्मान और बस उनका सम्मान.

ये भी पढ़ें: जानिए, फिल्म जीरो में कैटरीना के रोल की क्या है सच्ची कहानी

बरसों से जाने वाली महिलाएं भी कभी-कभी मेरे बर्ताव को काफी फॉर्मल बताती है-शाहरुख
शाहरुख ने बताया है, मेरी कई महिला मित्र जिन्हें में बरसों से जानता हूं, कभी-कभी मेरे बर्ताव को काफी फॉर्मल बताती है. लेकिन मेरा मानना है कि बगैर सम्मान के प्यार और जिगरी संबंधों का भी कोई मतलब नहीं है. शाहरुख ने बताया, सम्मान का मतलब है समानता. मगर सोशल मीडिया वाली समानता नहीं. मेरे लिए समानता का मतलब कि खुलकर ये बता सकें कि आप कितने कमजोर हैं. समानता आपसे पूछती है क्या आप मेरा ख्याल रखेंगे. बरसों से मैं अपनी पत्नी और दूसरी महिला मित्रों के साथ ऐसे ही सम्मान और समानता का बर्ताव करता आया हूं. क्योंकि मैं उन्हें सच में प्रेम करता हूं.

ये भी पढ़ें: DON 3 करेगी शाहरुख खान का HAPPY NEW YEAR 2019, हिरोइन पर पेंच फंसा

मेरा बेटा भी कभी अपनी सीमाएं नहीं लाघेंगा: शाहरुख खान
शाहरुख ने अपने बेटे का जिक्र करते हुए कहा, मैने अपने बेटे को भी ऐसे पाला है कि वो कभी अपनी सीमाएं नहीं लांघेगा. शाहरुख ने आगे बताया, मैंने अपने बेटे को सिखाया है कि महिलाओं का अनादर करना ठीक नहीं, लेकिन इससे मेरा मतलब MeToo Movement से सामने आईं महिलाओं के साथ यौन शोषण और अत्याचार की घटनाओं से बिल्कुल नहीं है. मैं केवल basic respect की बात कर रहा हूं.

Shahrukh-Gauri
Shahrukh Khan don’t interfare in Gauri’s personal space

शादी को तीस साल हो गए आज तक अपनी पत्नी के पर्स में नहीं झांके शाहरुख
शाहरुख ने बताया कि उनकी शादी को 30 साल हो गए, लेकिन आज तक उन्होंने अपनी पत्नी के पर्स में नहीं झांका. अगर वो कपड़े बदल रही होती है तो मैं आज भी कमरे में नॉक करने के बाद ही दाखिल होता हूं. भले ही उसे पता है कि मैं हूं, लेकिन ये उसका पर्सनल स्पेस है.

Pradeep Kumar Raghav